छात्रा का अपहरण करने वाले अपहरणकर्ताओ को पुलिस ने गुना से किया गिरफ्तार

DR. SUMIT SENDRAM

ग्वालियर। 19 वर्षीय छात्रा का दिनदहाड़े अपहरण करने वाले अपहरणकर्ताओ को ग्वालियर पुलिस ने देर रात गुना में धरदबोचा।
अपहरणकर्ता छात्रा को अपहरण कर गुना ले गये थे। अति. पुलिस अधीक्षक (अपराध) ऋषिकेश मीणा ने बताया कि छात्रा को गुना के एक लॉज से बरामद कर लिया गया है।
उन्होंने बताया कि छात्रा को सोमवार सुबह 10 बजे शहर के नाका चंद्रवदनी पेट्रोल पंप के बाहर से अपहरण किया गया था। यहां से झांसी रोड थाना 100 कदम दूर है।बदमाशों ने छात्रा के आगे बाइक खड़ी की। एक बदमाश उतरा और उसे बाइक पर बैठा लिया। इसके बाद विवेकानंद चौराहे से होते हुए भाग निकले। सिर्फ 30 सेकंड में यह वारदात की।
भिंड जिले के लहार के ग्राम बरा की रहने वाली छात्रा सेवढ़ा (दतिया) के एक महाविद्यालय में बीए प्रथम वर्ष की छात्रा है। उसके ताऊ ग्वालियर में कैलाश टॉकीज के पास रहते हैं। वे एमपीईबी में सुपरवाइजर हैं। उनके नये घर में 23 नवंबर को गृह प्रवेश था। छात्रा इसी कार्यक्रम में शामिल होने के लिये चाचा-चाची के साथ बस से ग्वालियर आयी थी। नाका चंद्रवदनी पर बस रुकते ही सवारियां उतरीं। छात्रा पेट्रोल पंप के वॉशरूम की तरफ बढ़ी। इतने में बाइक सवार आये और छात्रा को पकड़कर ले गये और चाचा-चाची बस से सामान उतारते रह गये।
छात्रा के चाचा ने लहार निवासी रोहित कुशवाहा पर शक जताया था। उन्होंने पुलिस को बताया कि बस सुबह पांच बजे लहार से ग्वालियर के लिये चलती है। सुबह जब परिवार ग्वालियर के लिए रवाना हुआ, तब गांव का रोहित वहीं था। उसने छोटी दीपावली के दिन भी उनके घर में घुसकर छात्रा से छेड़छाड़ की थी। विरोध करने पर कट्टा लहराते हुए भाग गया था। इसकी शिकायत लहार थाने में भी दर्ज करायी थी। पुलिस ने इस डिटेल के आधार पर आरोपियों की तलाश करना प्रारम्भ किया।
पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की मदद से छात्रा को गुना के एक लॉज से बरामद किया। आरोपी रोहित कुशवाहा को भी गिरफ्तार कर लिया है। पता चला कि छात्रा को बाइक पर बैठाने के बाद राघवेंद्र बघेल ने रोहित एवं छात्रा को गुना छोड़ा, फिर बरा लौट गया था। छात्रा को अगवा करने में मदद करने वाले रोहित के साथी राघवेंद्र बघेल को पुलिस ने बरा गांव से बाइक सहित पकड़ लिया।
सूत्रों के अनुसार पिछले तीन साल से रोहित कुशवाहा और छात्रा एक-दूसरे से परिचित हैं। चार दिन पहले रोहित ने अपने साथी राघवेंद्र के साथ मिलकर अपहरण की योजना बनायी थी।

 

Next Post

लाइनमैन और मीटर रीडर पांच हजार रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार

आगर-मालवा। दरबार सिंह सौंधिया पिता इंदर सिंह निवासी ग्राम बरखेड़ा बड़ौद ने पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त उज्जैन संभाग अनिल विश्वकर्मा को शिकायत में बताया कि मेरी कृषि भूमि पर मोटर चलाने के लिये विद्युत कनेक्शन प्राप्त करने के लिये डेढ़ दो महीने पहले आवेदन दिया गया था। इस कार्य के लिये […]